May 16 ,2021

PS24 News
मीडिया का नया अवतार
हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2015/65733 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2016/71238 (दैनिक)
RNI - UPHIN/2017/75145 (मासिक)
Download App

Trending
  • शिक्षा व स्वास्थ्य
    img1

    मथुरा में 1800 रुपए में यहां उपलब्ध है रेमडीसिविर इंजेक्शन दो मेडिकल कॉलेजों में मिलेगा मुफ्त

    Read More
  • शिक्षा व स्वास्थ्य
    img1

    जिला कारागार के बंदियों को ऑन लाइन कोरोना से बचाव के प्रति किया जागरुक

    Read More
  • शिक्षा व स्वास्थ्य
    img1

    दिन रात कोविड मरीजों के लिए जुटे डा. अजीत

    Read More
  • शिक्षा व स्वास्थ्य
    img1

    प्रधान ने शपथ ग्रहण से पूर्व अडींग में चलाया सफाई अभियान

    Read More
  • प्रशासन, शासन एवं राजनीति
    img1

    सौंख में कोविड-19 के जिला प्रभारी का दौरा, संक्रमित से मिले

    Read More
  • धर्म कर्म
    img1

    युवाओं ने बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाई भगवान परशुराम जी की जयंती

    Read More
  • प्रशासन, शासन एवं राजनीति
    img1

    भाकियू नेताओं ने मनाई किसान मसीहा स्व० महेन्द्र सिंह टिकैत की 10वीं पुण्यतिथि

    Read More
  • शिक्षा व स्वास्थ्य
    img1

    फालेन ग्राम पंचायत के कई गांव में प्रधान ने कराया सैनिटाइज

    Read More

मथुरा में 1800 रुपए में यहां उपलब्ध है रेमडीसिविर इंजेक्शन दो मेडिकल कॉलेजों में मिलेगा मुफ्त

परिधि समाचार मथुरा 

( राज ठाकुर राजावत )

मथुरा। रेमडेसिविर इंजेक्शन अब 1800 रुपए में सीएमओ कार्यालय के स्टोर रुम से लिया जा सकता है। जबकि जिले के दो मेडिकल कॉलेजों कोविड हॉस्पीटल में मुफ्त में उपलब्ध है। इन दोनों कोविड हॉस्पीटलों में यूपी सरकार द्वारा मरीजों के लिए निशुल्क रेमडेसिविर इंजेक्शन उपलब्ध कराए गए हैंं।

शनिवार को यह जानकारी सीएमओ डॉ. रचना गुप्ता ने दी है। उन्होंने बताया कि कोविड हॉस्पीटल केडी मेडिकल कॉलेज और केएम मेडिकल कॉलेज में रेमडेसिविर इंजेक्शन मुफ़्त में लगाए जा रहे हें। इन दो मेडिकल कॉलेजों में प्रदेश सरकार द्वारा पर्याप्त मात्रा में इंजेक्शन की आपूर्ति की गई है।उन्होंने बताया कि जिले में रेमडीसिविर इंजेक्शन पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है। प्रदेश सरकार द्वारा इन इंजेक् शन की आपूर्ति की गई है जो कि मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय के स्टोर में सुरक्षित रखे गए हैं। सीएमओ डॉ. रचना गुप्ता ने बताया कि रेमडीसिविर इंजेक् शन किसी भी व्यक्ति द्वारा सीएमओ कार्यालय के स्टोर से प्राप्त किए जा सकते हैं।इंजेक्शन उन्हीं को प्राप्त होगा, जो व्यक्ति सीएमओ कार्यालय द्वारा रजिस्टर्ड अस्पताल में ही भर्ती हों, अस्पताल में भर्ती होने का प्रमाण, डॉक्टर का पर्चा, आधार कार्ड और मरीज के सैंपल की पॉजिटिव रिपोर्ट देनी होगी।

जिला कारागार के बंदियों को ऑन लाइन कोरोना से बचाव के प्रति किया जागरुक

परिधि समाचार मथुरा

( राज ठाकुर राजावत )

मथुरा। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा ऑन लाइन विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया। जिसकी अध्यक्षता करते हुए विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव सोनिका वर्मा ने जिला कारागार में बंदियों और जेल प्रशासन को कोरोना महामारी के प्रति जागरुक करने के साथ ही हाईकोर्ट एवं केन्द्र एवं प्रदेश सरकार द्वारा जारी गाइड लाइन का पालन करने पर जोर दिया। शनिवार प्रात: सवा ग्यारह बजे से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शुरु हुआ। यह शिविर प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण एवं जनपद न्यायाधीश यशवंत कुमार मिश्र के निर्देश पर हुआ।इस महामारी के दौर में उच्च न्यायालय तथा केंद्र व राज्य सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन का पालन करना हम सब का कर्तव्य है और सर्व हित के लिए मास्क व सैनिटाइजर का प्रयोग व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें तथा समय-समय पर हाथ धोते रहें।आयोजित ऑनलाइन विधिक साक्षरता शिविर में उपस्थित बंदियों को उनके अधिकारों व कर्तव्यों के संबंध में बताया गया। उत्तर प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण लखनऊ के निर्देशानुसार 07 साल से कम की सजा वाले बंदियों को जमानत पर 60 दिन के लिए नियमानुसार छोड़े जाने हेतु जेल प्रशासन को दिशा निर्देश दिए गए। छोड़े गए बंदियों को जिलाधिकारी द्वारा घर तक पहुँचाने की सुविधा हेतु निर्देश दिए गए।जिला कारागार मथुरा में बढ़ते कोरोना संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए निर्देशित किया गया कि पॉजिटिव पाए गए बंदियों को आइसोलेशन वार्ड में मास्क के प्रयोग के साथ उचित दूरी पर रखा जाए तथा उनके स्वास्थ्य अनुरूप भोजन व दवा इत्यादि की व्यवस्था रहे। ऑनलाइन विधिक साक्षरता शिविर में उपस्थित बंदियों से वार्ता की गई तथा उनके द्वारा बताई गई समस्या के समाधान हेतु जेल अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए।इस अवसर पर जिला कारागार मथुरा के डिप्टी जेलर संदीप कुमार तथा जिला कारागार में नियुक्त बंदी पराविधिक स्वयंसेवकगण व बंदिगण उपस्थित रहे।

दिन रात कोविड मरीजों के लिए जुटे डा. अजीत

-अस्पताल में ड्यूटी के साथ हर किसी को फोन पर परामर्श दे रहे हैं

-मानसिक रूप से स्वस्थ रहें, समय से दवा लें, सभी स्वस्थ होंगे: अजित

 

परिधि समाचार मथुरा 

( चंद्र मोहन दीक्षित )

अपनी जान की परवाह किए बगैर जो चिकित्सक आज के दौर में कोरोना के मरीजों के बीच ज्यादा से ज्यादा समय बिता कर उन्हें स्वस्थ कर घर भेज रहे हैं, वे चिकित्सक वाकई देवतुल्य हैं। ऐसे ही  चिकित्सकों में एक हैं (डा.) मेजर अजीत सिंह सिकरवार।

युवा चिकित्सक डा. अजीत सिंह पहले सैन्य चिकित्सा में आए और मेजर पद पाया। इस समय आप रामकृष्ण मिशन अस्पताल वृंदावन में एक अनुभवी फिजीशियन के तौर पर कोरोना के मरीजों के लिए दिन रात कार्य कर रहे हैं। सरल व्यवहार के कारण लोग चाहे जब फोन मिला लेते हैं और अपनी बीमारी के बारे में पूछते हैं। इस तरह टेली मेडिसिन से भी रोगियों की काउंसलिंग कर रहे हैं।

डा. अजीत का कहना है कि इंसान के लिए यह मुश्किल का दौर चल है। लोग बीमार हो रहे हैं। इस दौर में हर चिकित्सक को चाहिए कि वह लोगों का विश्वास न खोए। कोविड गाइड लाइन का पालन करते हुए हर मरीज को स्वस्थ व संतुष्ट करने का अपना धर्म निभाए। उन्होंने बताया मैं ज्यादा से ज्यादा समय कोरोना के मरीजों के लिए दे रहा हूं।

रामकृष्ण मिशन अस्पताल में ड्यूटी के अलावा दिन भर लोग फोन कर जानकारी लेते हैं व उन्हें सलाह देते हैं। मरीज और उनके तीमारदारों को मानसिक रूप से संतुष्ट करना भी वह अपना नैतिक दायित्व समझते हैं।

फिजिशियन डा. अजीत का  कोरोना उपचाराधीन लोगों से कहना है कि कोरोना से डरें नहीं बल्कि मानसिक रूप से स्वस्थ रह कर डाक्टर के कहे के अनुसार दवा लेते रहें। इससे निश्चित ही एक दिन कोरोना हार जाएगा। उन्होंने बताया कि रामकृष्ण मिशन अस्पताल वृंदावन में 95 फीसदी से ज्यादा रिकवरी रेट है।  सामान्य व्यक्ति को यदि कोरोना के लक्षण हैं और आॅक्सीजन लेवल 94 से ऊपर है तो हम उसे कोरोना टेस्ट के साथ होम आइसोलेशन की सलाह देते हैं। क्योंकि टेस्ट रिपोर्ट आने में समय लगता है, इसलिए  पहले दिन से ही कोरोना की दवाएं शुरू करा रहे हैं। लोग कोरोना होने पर आइसोलेशन में रहें और दवाएं लें। मन में विश्वास रखें। सुबह योगा जरूर करें। काढ़ा पीयें और भाप जरूर लें। कोरोना मरीज के तीमारदारों को भी को कोविड गाइड लाइन का पालन करना चाहिए। इस तरह से कोरोना को हराया जाना संभव है। उन्होेने सलाह दी कि यदि सामान्य व्यक्ति बुखार खांसी के लक्षण आए तो तत्काल कोरोना की जांच कराएं। शुरू में पांच दिन स्ट्रांग एंटी बायोटिक और विटामिन दी जाती है। अधिकांश लोगों को इन्हीं पांच दिन में फायदा शुरू हो जाता है। फिर भी कोरोना के लक्षण दिखें तो अगले पांच दिन कुछ और दवाएं खाने से व्यक्ति स्वस्थ होता है। ऐसे मेें  यदि आॅक्सीजन लेवल घट रहा है तो उस स्थिति में मरीज को भर्ती करने की सलाह दी जाती है। वैक्सीन के संबंध में उन्होंने कहा कि इस पर विश्वास करना होगा। जो व्यक्ति वैक्सीनेशन करा चुके हैं, उन्हें गंभीर संक्रमण नहीं होगा। फिर भी सोशल डिस्टेंस व मास्क पहनना जरूरी है।

प्रधान ने शपथ ग्रहण से पूर्व अडींग में चलाया सफाई अभियान

परिधि समाचार मथुरा,

( धर्मेन्द्र सिंह )

 

गोवर्धन अडींग, विकास खण्ड गोवर्धन की ग्राम पंचायत अडींग में नवनिर्वाचित प्रधान श्री मति स्नेहालता व ग्राम पंचायत अधिकारी विजय राज सिंह द्वारा शपथ ग्रहण से पूर्व गाँव बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए सफाई अभियान चलाया.साथ ही गांव को सैनेटाइज भी कराया जा रहा है. इस दौरान गाँव के मैन बाजार सहित गली मोहोल्लो व गाँव के समस्त मजरों में सफाई व सैनेटाइजर का कार्य सुचारू रूप से जारी है.गाँव मे सफाई कर्मी की कमी को देखते हुए मजदूर  लगा कर सफाई कार्य कराया जा रहा है. इस दौरान ग्रमीणों ने प्रधान के इस कार्य की सराहना की है. इस मौके पर प्रधान प्रतिनिधि अमित रावत, कुंजिबिहारी गर्ग, सोनू वर्मा, भागीरथ , देवेंद्र ,विक्रम,उत्कर्ष, अजीत,महेश आदि लोग मोजूद रहे।

सौंख में कोविड-19 के जिला प्रभारी का दौरा, संक्रमित से मिले

संक्रमित से मिलकर व्यवस्थाओं का लिया जायजा

प्रत्येक वार्ड में निगरानी समिति करेगी कार्य

 

परिधि समाचार मथुरा 

( धर्मेंद्र सिंह )

 

सौंख। कोरोना संक्रमण की रोकथाम के जिला प्रशासन के अधिकारी पूरे दमखम से जुटे हुए है। इसे लेकर कोविड-19 के जिला प्रभारी उपजिलाधिकारी सुरेंद्र प्रसाद यादव ने कस्बा पहुंचे और कोरोना संक्रमित का हाल जाना। संक्रमित की व्यवस्थाओं की जानकारी दी। शनिवार को कस्बा में कोरोना संक्रमण को लेकर कोविड-19 जिला प्रभारी सुरेंद्र प्रसाद यादव ने दौरा किया। और नगर पंचायत कार्यालय में चेयरमैन समेत सभी सभासदों के साथ बैठक की। और कोरोना की रोकथाम के लिए विशेष दिशा-निर्देश दिये। इसके बाद सहजुआ थोक स्थित कोरोना संक्रमित के घर पर स्वास्थ्य विभाग की व्यवस्थाओं का जायजा लिया। संक्रमित ने बताया कि अभी तक मेरा हाल जानने के लिए स्वास्थ्य विभाग कोई भी अधिकारी व कर्मचारी नही आया है। ना ही कोई सरकार की ओर से व्यवस्था की गई है। बैठक में जिला प्रभारी सुरेंद्र प्रसाद यादव ने प्रत्येक वार्ड में निगरानी समिति का गठन किया गया है। सभासद की देखरेख में यह समिति कार्य करेगी। और समिति को आॅक्सीजन, पल्स मापने का थर्मा मीटर दिया गया है। अगर कोई संक्रमित मिलता है तो उसकी जानकारी निगरानी समिति अध्यक्ष संबंधित सभासद स्वास्थ्य विभाग को अवगत करायेगा। और नगर पंचायत संक्रमित आइसेलेट की व्यवस्था करेगी। इस मौके पर चेयरमैन भरत सिंह कुंतल, सभासद नीरज शर्मा, विनोद चौधरी, चेतन सिंह, संजू पंडित, संजय अग्रवाल, बिल्ला सिंह, हरेंद्र बाबू, नेत्रपाल सिंह, बाबूलाल आदि उपस्थित थे।

मनोरंजन

See More

रियल लाइफ में सुपर ग्लैमरस हैं मिसेज संजय दत्त

संजय दत्त और मान्यता दत्त की जोड़ी बॉलीवुड की फेवरेट जोड़ियों में से एक है. मान्यता दत्त भले ही फिल्मों का हिस्सा नहीं हैं मगर ग्लैमर वर्ल्ड से ताल्लुक जरूर रखती हैं. वे अपने फैशन सेंस और वेस्टर्न आउटफिट्स से बड़ी साइलेंटली लोगों का दिल जीतती रहती हैं.  

मान्यता का सोशल मीडिया इस बात का प्रमाण है. खासतौर से वे इंस्टाग्राम पर काफी ज्यादा एक्टिव रहती हैं और ग्लैमरस अंदाज में फोटोशूट कराती नजर आती हैं 

फैमिली फोटोज से अलग सोलो फोटोज में मान्यता अलग-अलग आउटफिट्स में जलवे बिखेरती हैं और पोज देती नजर आती हैं. फैंस भी इस दौरान उनकी तारीफ करते नहीं थकते.  

Read More

यू. पी राज्य

See More

रैपीपे की वेबसाइट और एप्प पर कोविड -19 के टीकाकरण की जानकारी और पंजीकरण सुविधा उपलब्ध।

परिधि समाचार संवाददाता

-------------------------

लखनऊ ।।  जानीमानी वित्तीय समावेशन फिनटेक कंपनी, रैपीपे फिनटेक अपनी वेबसाइट और एप के जरिए कोविड टीकाकरण की जानकारी और पंजीकरण की सुविधा उपलब्ध करा रही है। इस काम में रैपीपे के दो लाख से ज्यादा बिजनेस आउटलेट करोड़ों लोगों के टीकाकरण में सहायक बन रहे हैं। रैपीपे के बी2बी ऐप को 5 लाख से अधिक खुदरा विक्रेताओं और व्यापारियों ने इंस्टाल किया है।

रैपीपे ने अपनी वेबसाइट और एजेंट ऐप को एक टूल के द्वारा कोविन वेबसाइट पर रिडिरेक्ट किया है। जिससे टीकाकरण पंजीकरण के स्लाट्स लाइव दिख सकते है एवं पंजीकरण करा जा सकता है। लाखों रैपीपे एजेंट पेमेंट्स और पैसे भेजने वाली सेवाओं के लिए करोड़ों ग्राहकों को सेवा प्रदान करने के लिए इस ऐप का उपयोग करते हैं। उसी ऐप का इस्तेमाल करके एजेंट अपने इलाके में टीकाकरण के उपलब्ध होने की जाँच करने के लिए अपने ग्राहकों की सहायता कर पायेंगे एवं पंजीकरण स्लॉट भी बुक करा पायेंगे।

इस घोषणा के बारे में बोलते हुए, रैपीपे के एम डी एंड सी इ ओ योगेन्द्र कश्यप ने कहा कि कोविड-19 की दूसरी लहर देश के लिए बहुत ज़्यादा भारी पड़ रही है और इस महामारी को हराने के लिए, लोगों का टीकाकरण जल्द से जल्द करने की ज़रूरत है। सरकार ने अब 18 वर्ष से अधिक उम्र वाले लोगों के लिए भी एक टीकाकरण अभियान खोल दिया है और पहले पंजीकरण करवाना और अपॉइंटमेंट लेना आवश्यक कर दिया है। कश्यप ने कहा, कि  लाखों की संख्या में तकनीकी जानकारी न रखने वाले लोग ख़ास तौर पर ग्रामीण क्षेत्रों में, अपने आप कोविड या आरोग्यसेतु ऐप पर पंजीकरण नहीं कर सकेंगे। इसलिए हमारे डायरेक्ट बिजनेस आउटलेट्स एजेंट्स, रैपीपे ऐप्प एंड वेबसाइट द्वारा अपने इलाके के नागरिकों की टीकाकरण पंजीकरण मे सहायता कर रहे हैं। हमें उम्मीद है कि इस सुविधा से बहुत सारे लोग टीकाकरण केंद्र पर भीड़ नहीं लगायेंगे और सामाजिक दूरी बनाए रखने में मदद करेंगे जिसकी इस समय बहुत ज़रूरत है।

Read More

खेल

See More

मिताली राज के नखरें न उठा पाने पर कोच पद गवाने वाले पवार फिर बने महिला क्रिकेट टीम के कोच

क्रिकेटर​ मिताली राज लेकर आईं थी भारतीय क्रिकेट जगत में भूचाल

पूर्व भारतीय स्पिनर रमेश पवार  एक बार फिर महिला टीम के कोच पद की जिम्मेदारी निभाएंगे. पवार को गुरुवार को डब्ल्यूवी रमन की जगह भारतीय महिला क्रिकेट टीम का मुख्य कोच नियुक्त किया गया. इस पद के लिए 35 लोगों ने आवेदन दिया था लेकिन अंत में पवार का चयन हुआ. बता दें कि पवार इससे पहले भी टीम के साथ यह भूमिका निभा चुके है. उन्हें हालांकि 2018 टी-20 विश्व कप के बाद टीम इंडिया की सीनियर खिलाड़ी मिताली राज के साथ विवाद के बाद निलंबित कर दिया गया था. आइए जानते हैं क्या थी वह पूरी घटना...

मिताली राज और पवार के बीच हुआ था विवाद 

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की अनुभवी बल्लेबाज मिताली राज कोच रमेश पवार के बीत विवाद साल 2018 में हुआ था. मिताली राज को 2018 में खेले गए महिला वर्ल्ड टी20 के सेमीफाइनल से बाहर कर दिया गया था और उस मैच को टीम हार गयी थी. जबकि मिताली उस समय शानदार फॉर्म में थी. मिताली ने कोच पवार पर टी20 टीम से इंग्लैंड के खिलाफ वर्ल्ड कपसेमीफाइनल से उन्हें बाहर करने का आरोप लगाया था. मिताली राज ने बताया कि वेस्टइंडीज पहुंचते ही उनके और कोच रमेश पोवार के बीच विवाद शुरू हो गया था.

रमेश पवार की चली गयी थी कुर्सी

मिताली के मुताबिक, नेट्स पर जब दूसरे अभ्यास कर रहे होते तो कोच मौजूद रहते, लेकिन जैसे ही वे बल्लेबाजी के लिए जातीं, पवार वहां से चले जाते थे. पवार ने तब इसके जवाब में कहा था, ‘मिताली काफी नखरे दिखाती हैं और टीम में विवाद पैदा करती हैं.’पवार ने ये भी कहा था कि मिताली अपनी जिम्मेदारी नहीं समझती थीं. वे टीम प्लान का भी पालन नहीं करती थीं। वे निजी उपलब्धियों के लिए खेल रही हैं. हालांकि तब रमेश पवार को विवाद बढ़ने के बाद अपनी कुर्सी गंवानी पड़ी थी.

Read More

नेशनल

See More

ममता बनर्जी के भाई असीम बनर्जी की कोरोना से मौत, थे कोरोना संक्रमित

एक महीने से कोलकाता के प्राइवेट हॉस्पिटल में चल रहा था इलाज

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के सगे भाई की कोरोना के संक्रमण से मौत हो गयी है. वह एक महीने से बीमार थे और कोलकाता के प्राइवेडट हॉस्पिटल मेडिका में उनका इलाज चल रहा था. असीम बंद्योपाध्याय की मृत्यु के बाद से कालीघाट इलाका के अलावा तृणमूल कांग्रेस और ममता बनर्जी के परिवार में शोक की लहर दौड़ गयी.

कोलकाता स्थित मेडिका सुपरस्पेशियलिटी हॉस्पिटल के चेयरमैन डॉ आलोक राय ने शनिवार को यह जानकारी दी. डॉ राय ने बताया कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के छोटे भाई असीम बनर्जी का शनिवार (15 मई) को निधन हो गया है. उनमे कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई थी. अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था.

शनिवार को ही दोपहर बाद ममता बनर्जी के मंझले भाई असीम बंद्योपाध्याय का कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए नीमतला श्मशान घाट में अंतिम संस्कार कर दिया जायेगा. बंगाल में कोरोना का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है. दो दिन से लगातार करीब 21 हजार लोगों में संक्रमण की पुष्टि हो रही है. सवा सौ से ज्यादा लोगों की हर दिन कोविड19 की वजह से मौत हो रही है.

 

Read More

Videos

See More